विश्व हिंदी रंगमंच दिवस के आयोजन पर कोरोना ब्रेक

वरिष्ठ रंगकर्मी तथा फिल्म अभिनेता श्रीप्रकाश बाजपेयी साथ में  न्याय धारा के संपादक संजय कुमार मिश्र (विश्व हिंदी रंगमंच दिवस पर गतवर्ष की फोटो)

लखनऊ, शुक्रवार 3 अप्रैल प्रतिवर्ष उत्तर प्रदेश कलाकार एसोसिएशन द्वारा विश्व हिंदी रंगमंच दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है जिसमें उत्तर प्रदेश के रंगमंच, फिल्म तथा अन्य विधा से जुड़े सभी कलाकारों को इस दिन लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होना होता है।

उ प्र कलाकार एसोसिएशन के सचिव विनोद मिश्रा ने बताया कि इस वर्ष कलाकारों का महासंगम कोरोना के संक्रमण के चलते स्थगित कर दिया गया है।

उन्होने कहा इस कोरोना जैसी महामारी पर हमने भगवान से सभी कलाकारो की ओर से प्रार्थना की है कि इस कोरोना वायरस को खत्म करो, दुनिया में शांति लाओ इसपर एक गीत भी लिखा है। इसे अमित मुखर्जी और संध्या मुखर्जी ने संगीत दिया और दोनों ने मिलकर गाया है। सभी कलाकार भाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निवेदन को स्वीकारते हुए 5 अप्रैल रात 9:00 बजे दीपक जलाएं और 9 मिनट अपने घर की बालकनी, छत पर रहे

इस आयोजन के माध्यम से सभी छोटे बड़े कलाकार आपस में मिल सके और एक दूसरे का सहयोग कर सकें तथा कला के क्षेत्र में जुड़ी तमाम उपलब्धियों को, अपने अनुभवों को आपस में बांट सकें तथा नए नए अवसरों को अपने कलाकार साथियों को, अवसर दिला सकें कुल मिलाकर इस क्षेत्र से जुड़े सभी कलाकारों का यह एक प्रकार का महा संगम होता है। इस संस्था के सदस्य जाने-माने कलाकार संगीतकार भी है  जिसमें भजन सम्राट अनूप जलोटा, सिने अभिनेता श्रीप्रकाश बाजपेयी, स्टैंडिंग हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव भी है जो कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद् के चेयरमैन हैं उत्तर प्रदेश सरकार ने राजू श्रीवास्तव को कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया है।

परंतु इस वर्ष कोरोना की महामारी के चलते विश्व में मानव जाति पर बहुत बड़ा खतरा होने से कार्यक्रम का आयोजन स्थगित करना पड़ा

कोरोना के संक्रमण के बचाव के लिए सामाजिक दूरी अति आवश्यक है तथा साफ सफाई में रहकर हाथों को 20 सेकंड तक साबुन से बार-बार धोने से इसका बचाव होता है तथा अपने हाथों को नाक, आंख, मुंह आदि मे न ले जाएं। यदि छींक आती है तो टिशु पेपर का उपयोग करें अगर रूमालय टिशु पेपर न हो तो छीकते समय कोहनी का सहारा दें ताकि छीकने से फैलने वाले संक्रमण को कम किया जा सके। इस महामारी के चलते अब भारत भी इससे अछूता नहीं रहा।

अभिनेता श्रीप्रकाश बाजपेयी "गुलाबो सिताबो" फिल्म की डबिंग के लिए जाने से एक दिन पूर्व पनकी मंदिर (पनकी धाम कानपुर) में दर्शन के बाद बाहर आते हुए

वरिष्ठ रंगकर्मी तथा फिल्म अभिनेता श्रीप्रकाश बाजपेयी ने भारत के कई बड़े सिने अभिनेता व निर्देशक के साथ काम किया है। अजय देवगन की फिल्म रेड में भूमिका निभाई थी तथा गत वर्ष सुपरस्टार अमिताभ बच्चन की फिल्म गुलाबो सिताबो में अमिताभ बच्चन के मित्र की भूमिका को अभिनीत किया है। गुलाबो सिताबो के बाद वाजपेयी जी ने आशुतोष राणा की मूवी लकीरें में उनके चाचा का चरित्र निभाया है।

17 अप्रैल को गुलाबो सिताबो फिल्म रिलीज होना सम्भावित था परंतु अब कोरोना के चलते देश में 21 दिनों का लॉक डाउन चल रहा है अतः इन सभी को देखते हुए इस फिल्म का रिलीज होना अभी संभव नहीं दिखता।

यूं तो महानायक अमिताभ बच्चन की फिल्म को देखने का क्रेज भारत ही नहीं संपूर्ण विश्व में होता है फिर भी इस फिल्म को देखने के लिए उत्तर प्रदेश में खासा उत्साह है महानायक के साथ उत्तर प्रदेश के कई कलाकारों ने काम किया है जोकि उत्तर प्रदेश के लिए एक ऐतिहासिक उपलब्धि है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
वीरगति को प्राप्त पुलिसकर्मियों को पैदल मार्च पास कर श्रद्धांजलि
चित्र
डॉ समरदीप पांडेय ने किसान मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष बालमुकुंद शुक्ला का माल्यार्पण कर अंग वस्त्र पहनाकर स्वागत किया
चित्र
जिलाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यकम सूचकांको में सुधार लाने हेतु निर्देश
चित्र
आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधिक प्रशासन ने कोडीनयुक्त कफ सिरप का दुरूपयोग रोकने एवं अवैध बिक्री पर नियंत्रण किये जाने के निर्देश दिये
चित्र
जूही मंडल के नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष को अंग वस्त्र पहनाकर माल्यार्पण कर बधाई देते किसान मोर्चा के पदाधिकारी
चित्र