संस्कृति विभाग द्वारा उ0प्र0 जैन विद्या शोध संस्थान की ओर से आगामी मई एवं जून में प्रवर्तन यात्रा का आयोजन किया जायेगा - जयवीर सिंह

लखनऊ, मंगलवार 19अप्रैल 2022 (सूवि) वैशाख मास कृष्ण पक्ष तृतीया बसंत ऋतु २०७९ राक्षस नाम संवत्सर। उत्तर प्रदेश जैन विद्या शोध संस्थान संस्कृति विभाग द्वारा जैन धर्म एवं संस्कृति को जन-जन तक पहुंचाने एवं व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु आगामी मई एवं जून में जैन विद्वानों एवं मुनियों को एकत्रित कर जैन धर्म के 06 तीर्थंकरों यथा श्री ऋशभदेव, अजितनाथ, अभिनन्दननाथ, सुमितनाथ, अनन्तनाथ एवं धर्मनाथ की पुण्यस्थली अयोध्या/रत्नपुरी में प्रवर्तन यात्रा का आयोजन किये जाने का प्रस्ताव है। 

इस हेतु 35 लाख रूपए की धनराशि व्यवस्था की गयी है।

यह जानकारी प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने आज यहां देते हुए बताया कि आम जनमानस में छोटी-छोटी बातों से उत्पन्न परस्पर वैमनस्यता को समाप्त करने की दिशा में जैन धर्म एवं संस्कृति की अत्यन्त भूमिका है इसके अलावा जैन विचारधारा के विविध आयामों से आम जनता को परिचित कराना है।

जयवीर सिंह ने बताया कि जैन धर्म संस्कृति विरोधी विचारधाराओं को समाहित कर समाज हित में ढालने की शक्ति निहित है। इस उद्देश्य से संस्थान अनेक प्रवर्तन यात्रा सभी तीर्थ क्षेत्रों से निकाली जायेगी। आमंत्रित विद्वानों द्वारा विभिन्न सामाजिक महत्व के विषयों पर जन मानस को सजग एवं जागरूक किया जायेगा।

टिप्पणियाँ
Popular posts
डॉ समरदीप पांडेय ने किसान मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष बालमुकुंद शुक्ला का माल्यार्पण कर अंग वस्त्र पहनाकर स्वागत किया
चित्र
जूही मंडल के नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष को अंग वस्त्र पहनाकर माल्यार्पण कर बधाई देते किसान मोर्चा के पदाधिकारी
चित्र
जिलाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यकम सूचकांको में सुधार लाने हेतु निर्देश
चित्र
आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधिक प्रशासन ने कोडीनयुक्त कफ सिरप का दुरूपयोग रोकने एवं अवैध बिक्री पर नियंत्रण किये जाने के निर्देश दिये
चित्र
वीरगति को प्राप्त पुलिसकर्मियों को पैदल मार्च पास कर श्रद्धांजलि
चित्र