अमृत रथ यात्रा पहुंची लखनऊ, हुआ भव्य स्वागत 14 जनवरी को अयोध्या पहुंचेगी अमृत रथ यात्रा

लखनऊ। शनिवार 13जनवरी 2024 (सूवि) पौष मास शुक्ल पक्ष द्वितीया, शरद ऋतु २०८० नल नाम संवत्सर।उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान एवं हनुमान सेवा ट्रस्ट द्वारा 26000 किलोमीटर की भारत व्यापी अमृत रथ यात्रा निकाली गयी। यह यात्रा दिनांक 25 नवम्बर 2023 को बीकानेर (राजस्थान) से प्रारम्भ होकर देश के विभिन्न प्रान्तों से होती हुयी आज दिनांक 13 जनवरी 2024 को लखनऊ पहुंची।

लखनऊ में उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान, न्यू हैदराबाद लखनऊ द्वारा इस अमृत रथ यात्रा का भव्य स्वागत किया गया, इस स्वागत समारोह में अपर मुख्य सचिव भाषा जितेन्द्र कुमार, निदेशक विनय श्रीवास्तव, मुरलीधर अहूजा व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे तथा लखनऊ के निवासीगण बढ़-चढ़ कर इस कार्यक्रम में सहभागी बने।

लोगों ने अपने घरों से अक्षत, पुष्प आदि का अर्पण अमृत रथ यात्रा पर किया। इस अमृत यात्रा में संस्कृत के बटुकों द्वारा वेद पाठ एवं शंख ध्वनि की गयी। अमृत रथ यात्रा के दौरान मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम के चरित्र को जन जन तक पहुंचाया गया और संस्थान की विभिन्न योजनाओं की जानकारी आम जन को दी गयी तथा लोगों को संस्कृत पढ़ने के लिए प्रेरित किया गया।

अपर मुख्य सचिव भाषा जितेन्द्र कुमार एवं संस्थान के निदेशक विनय श्रीवास्तव द्वारा संस्थान की मिस्डकॉल के माध्यम से ऑनलाईन सरल संस्कृत सम्भाषण प्रशिक्षण योजना, गृहे-गृहे संस्कृतम् योजना, योग प्रशिक्षण शिविर योजना, प्रत्येक जनपद में वास्तु एवं ज्योतिष प्रशिक्षण शिविर, प्रत्येक जनपद में पौरोहित्य कर्मकाण्ड प्रशिक्षण शिविर, एकमासात्मक नाट्य प्रशिक्षण योजना, सिविल सेवा परीक्षा निःशुल्क कोचिंग एवं मार्गदर्शन योजना आदि से अवगत कराया गया।

अमृत रथ यात्रा में चल रहे सभी प्रतिनिधियों का अंगवस्त्र, फूलमाला एवं नारियल आदि भेंट कर स्वागत किया गया। अमृत रथ यात्रा दिनांक 14 जनवरी 2024 को अयोध्या पहुंचेगी। अमृत रथ यात्रा में देशभर से अक्षत एकत्र किया गया है जो अयोध्या भगवान राम के पूजन हेतु प्रस्तुत किया जायेगा। स्वागत समारोह में भगवान राम के आदर्शों, विचारों, नैतिक मूल्यों तथा आचरण आदि के अनुसार कार्य करने के लिए युवाओं का आवाह्न किया गया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
अवैध कब्जा करने वालों को चिन्हित करते हुए उनके खिलाफ एंटी भू माफिया, गैंगस्टर आदि धाराओं में कठोरतम कार्यवाही के निर्देश
चित्र
सभी मतदेय स्थलों में छाया, शौचालय, पेयजल व्यवस्था एवं बुजुर्ग, दिव्यांग मतदाओं हेतु रैम्प आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए - जिलाधिकारी
चित्र
जनपद में राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त टीमों का गठन कर चकमार्गों, तालाबों पर अवैध कब्जों को हटाया जाये - केशव प्रसाद मौर्य
चित्र
हर व्यक्ति को प्रत्येक दिन योग का अभ्यास करना चाहिए - दिनेश सिंह कुशवाहा
चित्र
भारत को विश्वगुरू बनाने के लिए आगे आए ब्राम्हण समाज-प्रो. द्विवेदी
चित्र