पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 के प्रावधानों के बारे में जागरूक किया

अभियोजन अधिकारियों को पशु अधिकारों के संदर्भ में किया गया जागरुक 

लखनऊ, शनिवार 10सितम्बर 2022 (सूवि) भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष पूर्णिमा, शरद ऋतु २०७९ राक्षस नाम संवत्सर। पीपल्स फ़ॉर एनिमल, पब्लिक पॉलिसी फाउंडेशन के तत्वाधान में सभी जनपदों के अभियोजन अधिकारियों को वेबीनार के माध्यम से कार्यशाला का आयोजन कर पशु संरक्षण कानूनों के विषय मे जागरूक किया गया। कार्यशाला में पशुपालकों व मांस व्यापारियों द्वारा पशुओं के साथ बरती जा रही क्रूरता, अस्वास्थ्यकर परिस्थितियों में पशुओं को रखना, मांस व्यापार में जरूरी सावधानियों को न बरतने के विषय मे चर्चा करते हुए 

पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 के प्रावधानों के बारे में जागरूक किया गया वन्य जीवन संरक्षण अधिनियम, 1972, साथ ही भारतीय दंड संहिता की प्रासंगिक धाराएं, 1860 में विस्तार से बताया गया।

कार्यशाला का संचालन कर रहीं पीपल्स फ़ॉर एनिमल पब्लिक पॉलिसी फाउंडेशन की एनिमल वेलफेयर एसोशिएट्स सुरभि त्रिपाठी ने कहा विभिन्न अध्ययनों से यह पता चलता है कि पशु क्रूरता और सामान्य हिंसा के बीच प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष संबंध है। उन्होंने कहा कि पशुओं के साथ विभिन्न प्रकार की क्रूरता करने वाले व्यक्तियों खासकर बच्चों व किशोरों में हिंसात्मक प्रवृत्ति का विकास होता है, जो बाद में अपराध में बदल जाती है। उन्होंने कहा कि पशुओं पर बढ़ रहे क्रूरता को देखते हुआ यह आवश्यक है की उनके न्याय के बारे में भी चर्चा की जाए जिससे निर्दोष बेजुबान पशु-पक्षियों को और क्रूरता का सामना ना करना पड़े, साथ ही स्वस्थ्य व बेहतर समाज का निर्माण हो सके।

कार्यशाला में प्रदेश के सभी जनपदों के जे.डी. प्रॉसक्यूशन, एस.पी.ओ., ए.पी.ओ. और लगभग 150 अभियोजन अधिकारियों ने भाग लिया। कार्यशाला में इन लोगों के द्वारा पशु क्रूरता के विरुद्ध विभिन्न कानूनों व धाराओं और पशु तस्करी विशेषकर गो-तस्करी से जुड़े प्रावधानों के बारे में पूछा गया।

संयुक्त निदेशक अभियोजन चंद्र प्रकाश चौधरी ने कहा कि इस कार्यशाला से सभी अभियोजन अधिकारियों में पशु क्रूरता संबंधी अपराधों और पशु-तस्करी जैसे अपराधों से जुड़े प्रावधानों की बेहतर समझ पैदा हुई होगी और इससे सभी अभियोजन अधिकारियों के पशु अपराधों के संदर्भ में क्षमता निर्माण में सहायता मिली है। उन्होंने इस प्रकार उपयोगी कार्यशाला के लिए संस्था को धन्यवाद दिया। वेबिनार की अध्यक्षता पीपल फॉर एनिमल्स की ट्रस्टी और नारी शक्ति अवार्डी, 2017 सुश्री गौरी मौलेखी द्वारा किया गया। उन्होंने वेबिनार में उपलब्ध होने के लिए सभी उपस्थित अधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
डॉ समरदीप पांडेय ने किसान मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष बालमुकुंद शुक्ला का माल्यार्पण कर अंग वस्त्र पहनाकर स्वागत किया
चित्र
जूही मंडल के नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष को अंग वस्त्र पहनाकर माल्यार्पण कर बधाई देते किसान मोर्चा के पदाधिकारी
चित्र
जिलाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यकम सूचकांको में सुधार लाने हेतु निर्देश
चित्र
आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधिक प्रशासन ने कोडीनयुक्त कफ सिरप का दुरूपयोग रोकने एवं अवैध बिक्री पर नियंत्रण किये जाने के निर्देश दिये
चित्र
वीरगति को प्राप्त पुलिसकर्मियों को पैदल मार्च पास कर श्रद्धांजलि
चित्र