प्रत्येक जनपद में वेटलैंड को ईको-टूरिज्म के तहत विकसित किया जाये

  1. कुकरैल जू एवं नाइट सफारी के स्थापना का कार्य यथाशीघ्र शुरू करने के निर्देश 
  2. ओडीओपी स्कीम की तर्ज पर प्रदेश के प्रत्येक जनपद में वन डिस्ट्रिक्ट-वन वेटलैंड का प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश-अरूण कुमार सस्सेना
  3. वन ट्रिलियन इकॉनामी के संबंध में वन विभाग को दिये गये लक्ष्य की प्राप्ति हेतु उत्तर प्रदेश में काष्ठ आधारित उद्योगों को बढ़ावा दिया जायेगा- वन मंत्री

लखनऊ, शुक्रवार 09दिसम्बर 2022 (सूवि) पौष मास कृष्ण पक्ष प्रतिपदा, हेमन्त ऋतु २०७९ राक्षस नाम संवत्सर। प्रदेश के पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन एवं जन्तु उद्यान राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अरूण कुमार सक्सेना ने कहा कि वर्ष 2023 के अंत तक कुकरैल जू एवं नाइट सफारी की स्थापना का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और लखनऊ चिड़ियाघर का अगला स्थापना दिवस कुकरैल में मनाये जाने का निर्णय लिया गया है।

इसलिए कुकरैल जू एवं नाइट सफारी के स्थापना का कार्य यथाशीघ्र शुरू कर दिया जाये। उन्होंने कहा कि कुकरैल जू एवं नाइट सफारी के डिजिटल सर्वे का कार्य पूर्ण हो चुका है। माह फरवरी के अंत तक कैंप स्ट्रक्चर एवं वॉर रूम के कार्य को पूरा कर लिया जाये। उन्होंने कहा कि इस संबंध में होने वाली आगामी समीक्षा बैठक वॉर रूम में ही की जायेगी।

श्री सक्सेना ने यह निर्देश पारिजात सभागार में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान दिए। उन्होंने ओडीओपी स्कीम की तर्ज पर प्रदेश के प्रत्येक जनपद में वन डिस्ट्रिक्ट-वन वेटलैंड का प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश प्रदेश के सभी प्रभागीय वनाधिकारी को दिए। यह भी कहा कि प्रत्येक जनपद में वेटलैंड को ईको-टूरिज्म के तहत विकसित किया जाये। अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि बंदरों की सुरक्षा के लिए एक अलग से रेस्क्यू सेंटर की स्थापना कराई जाये। वृक्षारोपण अभियान के दौरान रोपित पौधों में से यदि कोई पौधा सूख गया है तो उसके स्थान पर तत्काल पौधरोपण कराया जाये। इसकी थर्ड पार्टी से मॉनीटरिंग भी कराई जायेगी। लापरवाही पाये जाने पर संबंधित के विरूद्ध सख्त कदम उठाये जायेंगे। विकास कार्याें के लिए दी जाने वाली एन0ओ0सी0 को समय से निर्गत किया जाये इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही अथवा विलंब नहीं होनी चाहिए।

श्री सक्सेना ने बैठक में पौधशाला प्रबंधन में अबतक की जनपदवार प्रगति की समीक्षा की। ग्राम पंचायतों में ग्राम नर्सरी स्थापित कराये जाने के निर्देश दिए। वन ट्रिलियन इकॉनामी के संबंध में वन विभाग को दिये गये दस हजार करोड़ के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु उत्तर प्रदेश में काष्ठ आधारित उद्योगों की स्थापना हेतु जनपदवार लक्ष्यों को निर्धारण करने के निर्देश दिए गए। साथ ही काष्ठ कला बोर्ड की स्थापना के संबंध में चर्चा की गई। उन्होंने शासन स्तर पर लंबित प्रकरणों को तत्काल निस्तारित करने के निर्देश दिए। साथ ही बरेली में जू स्थापना के प्रगति से अवगत हुए। सांडी नवाबगंज समसपुर पक्षीविहार, सारनाथ डियर पार्क, इन्दिरा गंधी वनस्पति उद्यान, रायबरेली के बेहतर प्रबंधन हेतु सोसायटी/ट्रस्ट के गठन का प्रस्ताव यथाशीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने वन अग्नि व वन्य जीव एवं मानव संघर्ष की रोकथाम हेतु विभाग द्वारा उठाये जा रहे कदमों की समीक्षा की। बर्ड फेस्टिवल आयोजित किये जाने के संबंध में जानकारी प्राप्त की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

समीक्षा बैठक के दौरान पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन एवं जन्तु उद्यान राज्यमंत्री के0पी0 मलिक, अपर मुख्य सचिव, पर्यावरण, वन, जलवायु परिवर्तन एवं जन्तु उद्यान मनोज सिंह सहित वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे तथा प्रदेश के समस्त प्रभागीय वनाधिकारी वर्चुअल रूप से जुड़े थे।  

टिप्पणियाँ
Popular posts
अवैध कब्जा करने वालों को चिन्हित करते हुए उनके खिलाफ एंटी भू माफिया, गैंगस्टर आदि धाराओं में कठोरतम कार्यवाही के निर्देश
चित्र
सभी मतदेय स्थलों में छाया, शौचालय, पेयजल व्यवस्था एवं बुजुर्ग, दिव्यांग मतदाओं हेतु रैम्प आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए - जिलाधिकारी
चित्र
जनपद में राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त टीमों का गठन कर चकमार्गों, तालाबों पर अवैध कब्जों को हटाया जाये - केशव प्रसाद मौर्य
चित्र
हर व्यक्ति को प्रत्येक दिन योग का अभ्यास करना चाहिए - दिनेश सिंह कुशवाहा
चित्र
भारत को विश्वगुरू बनाने के लिए आगे आए ब्राम्हण समाज-प्रो. द्विवेदी
चित्र