विधान परिषद कानपुर खंड स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन, 2023 को स्वतंत्र, निष्पक्ष सम्पादित कराने..

कानपुर नगर। शुक्रवार 20जनवरी 2023 (सूवि) माघ मास कृष्ण पक्ष त्रयोदशी तदुपरि चतुर्दशी, शिशिर ऋतु २०७९ राक्षस नाम संवत्सर। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी विशाख जी0 द्वारा आज राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थान, कानपुर नगर में विधान परिषद कानपुर खंड स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन, 2023 को स्वतंत्र, निष्पक्ष सम्पादित कराने हेतु पॉलिटेक्निक स्थित पीठासीन अधिकारियों के चल रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम का औचक निरीक्षण किया गया। 

उक्त कार्यक्रम में आज दो पालियों में 800 मतदान अधिकारियों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया जाएगा। निरीक्षण के काल खंड में जिलाधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों के साथ उपस्थित अन्य अधिकारियों को निम्नलिखित निर्देश दिए:-

1. जिला पंचायत राज अधिकारी/सहायक प्रभारी अधिकारी, प्रशिक्षण एवं प्रबंधन यह सुनिश्चित करें कि प्रशिक्षण हेतु प्रत्येक पाली में कर्मचारी निर्धारित समयावधि में उपस्थित रहें।

2. प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन एवं मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय को समस्त मास्टर ट्रेनरों द्वारा मतदान प्रक्रिया के संबंध में विस्तारपूर्वक प्रशिक्षण प्रदान किया जाए ताकि निर्वाचन के दौरान किसी प्रकार से कोई समस्या उत्पन्न ना हो।

3. प्रशिक्षण के दौरान यदि मतदान अधिकारी को किसी प्रकार का संशय होता है तो उनका समाधान प्रशिक्षण के दौरान ही मास्टर ट्रेनर के माध्यम से विस्तारपूर्वक प्राप्त कर लिया जाए।

4. सहायक प्रभारी अधिकारी, प्रशिक्षण एवं प्रबंधन निर्वाचन कार्य में लगाए गए अधिकारियों एवं कर्मचारियों का 100 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराकर समस्त को प्रशिक्षण प्रदान कराना सुनिश्चित करें।

टिप्पणियाँ
Popular posts
अवैध कब्जा करने वालों को चिन्हित करते हुए उनके खिलाफ एंटी भू माफिया, गैंगस्टर आदि धाराओं में कठोरतम कार्यवाही के निर्देश
चित्र
सभी मतदेय स्थलों में छाया, शौचालय, पेयजल व्यवस्था एवं बुजुर्ग, दिव्यांग मतदाओं हेतु रैम्प आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए - जिलाधिकारी
चित्र
जनपद में राजस्व व पुलिस विभाग की संयुक्त टीमों का गठन कर चकमार्गों, तालाबों पर अवैध कब्जों को हटाया जाये - केशव प्रसाद मौर्य
चित्र
हर व्यक्ति को प्रत्येक दिन योग का अभ्यास करना चाहिए - दिनेश सिंह कुशवाहा
चित्र
भारत को विश्वगुरू बनाने के लिए आगे आए ब्राम्हण समाज-प्रो. द्विवेदी
चित्र