योग असीमित ऊर्जा का केन्द्र - जयवीर सिंह

  1. विश्व के लगभग 177 से अधिक देशों में योग लोकप्रिय हो रहा है 
  2. अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने मैनपुरी में सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम में सम्मिलित हुए

लखनऊ, बुधवार 21जून 2023 (सूवि) आषाढ़ मास शुक्ल पक्ष तृतीया, ग्रीष्म ऋतु २०८० नल नाम संवत्सर। उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने आज जनपद मैनपुरी में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कृष्णा मैरिज हॉल में आयोजित सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम में शामिल होकर विधिवत् योग कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

इस अवसर पर जिला प्रशासन मैनपुरी के अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक छात्र-छात्रायें एवं अन्य लोग ने इसमें सहभागिता दी।

कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए पर्यटन मंत्री ने कहा कि योग सारे विश्व को भारत की बहुमूल्य देन है। योग सिर्फ हमारे शरीर को, विभिन्न असाध्य रोगों से नहीं बचाता बल्कि मन और मस्तिष्क को स्वस्थ करते हुए मानव की समस्त गतिविधियों को सफलता पूर्वक संचालित करने के लिए ऊर्जा प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि योग हमारे ऋषि मुनियों खासतौर से महर्षि पतंजलि द्वारा दिया गया मानवता के लिए एक रक्षा कवच है, जिसको आज सारा विश्व अपना रहा है।

जयवीर सिंह ने कहा कि योग को पूरे विश्व से परिचित कराने का श्रेय देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को जाता है। उनके प्रयासों से संयुक्त राष्ट्र संघ ने 11 दिसम्बर, 2014 को उनके प्रस्ताव को अनुमोदित करते हुए हर वर्ष 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पास किया। वर्तमान समय में विश्व के लगभग 177 से अधिक देशों में योग लोकप्रिय हो रहा है। दुनिया के लगभग समस्त देश योग को अपनी दिनचर्या का अटूट हिस्सा बना रहे हैं।

जयवीर सिंह ने कहा कि चिकित्सा विज्ञान अपने शोध से विभिन्न असाध्य रोगों पर विजय पाने का प्रयास कर रहा है। इसके बावजूद भी नई-नई बीमारियॉ पैदा होती जा रही है। कुछ रोग तो अब भी लाइलाज बने हुए हैं। इनको योग के माध्यम से ही दूर किया जा सकता है। योग सिर्फ अध्यात्म का मार्ग ही नहीं बल्कि प्रकृति से जोड़ने का माध्यम भी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मा0 योगी जी के प्रयासों से पूरे प्रदेश में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस बड़े पैमाने पर आयोजित किया गया है।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि योग ऊर्जा का श्रोत है। इसको दुनिया के लोग स्वीकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि योग भारत की प्राचीन सांस्कृतिक परम्परा का हिस्सा है। जिसको पूरा विश्व अपना रहा है। यह भारत के लिए गौरव का विषय है। इसलिए आज के दिन हम सभी लोग संकल्प लें कि योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाकर मन एवं शरीर को स्वस्थ बनायेंगे। इसके साथ ही दूसरों को भी योग की उपयोगिता को बताते हुए इसे अपनाने के लिए प्रेरित करेंगे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
डॉ समरदीप पांडेय ने किसान मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष बालमुकुंद शुक्ला का माल्यार्पण कर अंग वस्त्र पहनाकर स्वागत किया
चित्र
जूही मंडल के नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष को अंग वस्त्र पहनाकर माल्यार्पण कर बधाई देते किसान मोर्चा के पदाधिकारी
चित्र
जिलाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यकम सूचकांको में सुधार लाने हेतु निर्देश
चित्र
आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधिक प्रशासन ने कोडीनयुक्त कफ सिरप का दुरूपयोग रोकने एवं अवैध बिक्री पर नियंत्रण किये जाने के निर्देश दिये
चित्र
वीरगति को प्राप्त पुलिसकर्मियों को पैदल मार्च पास कर श्रद्धांजलि
चित्र